UPSC Kya Hai Full Information in Hindi

2.7/5 - (3 votes)

दोस्तों, आपने UPSC का नाम तो जरूर सुना होगा लेकिन क्या आप जानते हैं कि UPSC क्या है, यदि नहीं तो आज का यह लेख आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है क्योंकि आज के पोस्ट में मैं आपको UPSC से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को साझा करने वाला हूं। जी हां यदि आप भी UPSC से संबंधित Full information प्राप्त करना चाहते हैं, तो उसके लिए आप हमारे इस लेख को पूरा पढ़ें।

UPSC क्या है ?

यदि आप यूपीएससी क्या है के बारे में अच्छे से समझना चाहते हैं, तो उससे पहले आपको PSC के बारे में समझना जरूरी होता है। यदि हम PSC की चर्चा करें, तो इसे हिंदी शब्द में लोक सेवा आयोग कहा जाता है और इसे 1 अक्टूबर 1926 में जारी किया गया था। लेकिन कुछ समय पश्चात PSC नाम में कुछ चेंजेज किया गया है। हमारे कहने का तात्पर्य यह है कि 26 जनवरी 1950 में PSC को चेंज करके UPSC कर दिया गया था

जानकारी के मुताबिक, भारतीय सरकार के माध्यम से निर्माण किया गया यह एक ऐसा एजेंसी है जिसका काम 24 अलग अलग सिविल सर्विस में भर्ती के लिए सिविल सर्विस एग्जाम ( CSE ), NDA और ESC जैसे कई अलग अलग एग्जामिनेशन का आयोजन करना है। मुख्य रूप से देखा जाए तो UPSC के द्वारा ही देश में IPS, IAS और B Gread के officers का चुनाव किया जाता है।

UPSC का फुल फॉर्म क्या होता है ?

यदि हम UPSC के फुल फॉर्म की चर्चा करें, तो इसका फुल फॉर्म union Public Service Commission होता है और इसका हिंदी मतलब संघ लोक सेवा आयोग होता है।

मदरबोर्ड क्या है? MOTHERBOARD IN HINDI?

UPSC के माध्यम से किस किस एग्जामिनेशन का आयोजन किया जाता है ?

मुख्य रूप से देखा जाए तो यूपीएससी के माध्यम से विभिन्न एग्जामिनेशन आयोजित किया जाता है जैसे कि :-

  • ESE ( Engineering Services Examination )
  • SCRA ( Special Class Railway Apprentice )
  • IFS ( Indian Forest Services )
  • CSE ( Civil Services Exam )
  • NDA ( National Defence Academy )
  • IAS ( Indian Administrative Services )
  • CDS ( Combind Defence Services )

आप चाहें तो ऊपर दिए गए किसी भी एग्जामिनेशन में से एग्जाम देने के बारे में सोच सकते हैं। कहने का तात्पर्य यह है कि आप अपना भविष्य यानी कि आप आगे चल कर क्या बनना चाहते हैं, ये पूरी तरह से आप पर डिपेंड करता है और आप उसके हिसाब से किसी भी एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं।

UPSC में किसको कितनी बार अवसर प्राप्त हो सकता है ?

यूपीएससी में किसको कितनी बार अवसर प्राप्त हो सकता है ये पूरी तरह से उनके श्रेणी पर डिपेंड करता है। जैसे कि :-

  • जेनरल वर्ग 6 बार
  • SC-ST – असीमित
  • OBC – 9 बार

यदि हम सरल शब्दों में समझे, तो यूपीएससी की एग्जामिनेशन में जेनरल वर्ग के कैंडिडेट को 6 बार एग्जाम देने के लिए 6 बार अवसर प्रदान किया जाएगा। वही पर देखा जाए तो SC-ST वर्ग के कैंडिडेट को असीमित एग्जाम देने का अवसर प्राप्त होता है और यदि हम ओबीसी वर्ग के कैंडिडेट की बात करें, तो इन्हें पूरे 9 बार अवसर प्रदान किया जाएगा। लेकिन एक बात जो सबसे महत्वपूर्ण है आपको ये अवसर आपके आयु सीमा तक ही आपको प्राप्त होगा।

यूपीएससी की परीक्षा के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ?

यदि आप भी यूपीएससी की परीक्षा देने के बारे में सोच रहे हैं और इसकी तैयारी भी कर रहे हैं, तो उससे पहले आपको ये पता होना जरूरी है कि इसके लिए योग्यताएं क्या होनी चाहिए। तो चलिए जानते हैं की यूपीएससी की परीक्षा कौन दे सकते हैं :-

  • यदि हम एजुकेशन CLASSIFICATION की बात करें, तो इसके लिए आपका ग्रेजुएशन पूरा होना चाहिए।
  • Age limit की चर्चा करें, तो यदि आप जेनरल वर्ग के कैंडिडेट है, तो उसके लिए आपकी आयु कम से कम 21 साल और ज्यादा से ज्यादा 32 साल होना चाहिए।
  • वही पर यदि आप SCST वर्ग के कैंडिडेट है, तो उसके लिए आपको जेनरल से 5 वर्ष का छूट प्रदान किया जाता है।
  • और अन्य पिछड़ा कैटेगरी के कैंडिडेट को उनके age limit से पूरे तीन साल का छूट प्रदान किया जाता है।

यदि आप भी यूपीएससी की एग्जाम देना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको ग्रेजुएशन करना जरूरी होता है या यह कहें कि यदि आप ग्रेजुएशन के लास्ट ईयर में है, तो भी आप यूपीएससी का एग्जाम दे सकते हैं।

यूपीएससी की परीक्षा प्रोसेस क्या है ?

  1. Preliminary Exam
  2. Main Exam
  3. Interview

मुख्य रूप से देखा जाए, तो यूपीएससी की परीक्षा प्रोसेस तीन स्टेप्स में ली जाती है। पहला प्रारंभिक परीक्षा, दूसरा मुख्य परीक्षा और तीसरा साक्षात्कार।

Preliminary Exam :-

सबसे पहले Preliminary Exam निकाला जाता है। जानकारी के मुताबिक, यह एग्जाम जून से जुलाई महीने में होती है। एग्जाम के इस चरण में कैंडिडेट्स को दो पेपर प्रदान किए जाते हैं।

  • पहला General Study
  • और दूसरा CSAT

इसमें दोनों पेपर 200 नंबर के पूछे जाते हैं। इसमें आपसे जो भी QUESTIONS पूछे जाएंगे वो बहुविकल्पीय होंगे, जिसमें आपको सही जवाब पर सिर्फ टिक करने की आवश्यकता होती है। यदि हम समय की बात करें, तो इन दोनों पेपर के लिए आपको 2-2 घंटे का टाइम प्राप्त होता है।

अच्छी बात तो यह है कि आपके इस एग्जाम के नंबर्स मुख्य एग्जामिनेशन में नहीं जोड़ा जाएगा। लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आप इसमें कुछ तैयारी न करों कहने का तात्पर्य यह है कि आपको इस एग्जाम में पास होना अनिवार्य होता है।

Main Exam :-

यदि हम मुख्य एग्जाम की चर्चा करें, तो इसमें आपको पूरे 9 पेपर प्रदान किया जाएगा। इसमें प्रत्येक पेपर 180 से 200 अंकों के पूछे जाएंगे और कुल मिलाकर देखा जाए, तो पूरा नंबर 1750 अंक का एग्जाम लिया जाएगा।आपको हर एक पेपर के लिए 3 घंटे का टाइम प्रदान किया जाता है। Main Exam नवंबर से लेकर दिसंबर तक के महीने में निकाली जाती है।

यूपीएससी फर्स्ट पेपर ( लैंग्वेज पेपर ) ?

सबसे पहले आपको बता दूं कि यूपीएससी के First QUESTION पेपर में आपको कुल 18 इंडियन लैंग्वेज में से किसी एक लैंग्वेज का चुनाव करके परीक्षा देना होगा और यह पेपर पूरे 300 नंबर के पूछे जाएंगे इसके अलावा इसमें आपसे कुल 20 से 25 क्वेश्चन पूछे जाएंगे। लेकिन आपको यह भी पता होना चाहिए कि आपके इस एग्जामिनेशन में जितने भी अंक आएंगे वो आपके फाइनल रिजल्ट में नहीं जोड़े जाएंगे।

यूपीएससी Second पेपर ( लैंग्वेज पेपर )

यूपीएससी के इस दूसरे पेपर आपको अंग्रेजी भाषा में परीक्षा देने की आवश्यकता होती है। यह भी पेपर कुल 300 नंबर के लिए जाएंगे। और सबसे महत्वपूर्ण इस एग्जामिनेशन में आने वाले अंक फाइनल रिजल्ट में नहीं जोड़े जाएंगे।

यूपीएससी third पेपर ( Essay )

तो चलिए अब यूपीएससी के तीसरे पेपर की चर्चा कर लें, तो यह पेपर essay यानी कि निबंध का होता है। आपको बता दूं कि इस पेपर के दो भाग होते हैं अब आपको इन दोनों में से किसी एक पर निबंध लिखने की आवश्यकता होती है। यह पेपर 250 नंबर के पूछे जाते हैं। यह परीक्षा आपको अच्छे से देना होगा क्योंकि इसके अंत में आपको जितने नंबर मिलेंगे वो आपके फाइनल रिजल्ट में ऐड किए जाएंगे।

यदि हम 4,5,6 और 7 पेपर की चर्चा करें, तो इसमें पूछे जाने वाले सभी क्वेश्चन पेपर सामान्य अध्ययन के होते हैं। सभी QUESTION PAPER 250 नंबर के होते हैं। इन सभी क्वेश्चन पेपर में आर्थिक, सामाजिक और विभिन्न प्रकार के पेपर होते हैं। 8वाँ और 9वाँ पेपर की यदि हम बात करें, तो यह वैकल्पिक SUBJECT है इसका अर्थ यह है कि इस पेपर में आपसे ऑप्शनल क्वेश्चन पूछे जाते हैं।

Interview :-

जब आप ऊपर बताए गए फर्स्ट और second परीक्षा को क्लियर कर लेते हैं, तब आपको इंटरव्यू देना होगा। जानकारी के मुताबिक, इंटरव्यू फरवरी से अप्रैल महीने में लिया जाएगा। इंटरव्यू सिविल सर्विसेज परीक्षा का सबसे लास्ट पराव होता है।

कहने का तात्पर्य यह है कि जब आप मुख्य एग्जामिनेशन को क्लियर कर लेते हो, तो उसके बाद आपको इंटरव्यू देने के लिए जाना पड़ता है। इंटरव्यू पूरे 250 नंबर का होता है। यह नंबर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होंगे, क्योंकि यह नंबर आपके मेरिट लिस्ट में एड किए जाते हैं।

निष्कर्ष :-

तो दोस्तों कैसा लगा आपको हमारा UPSC kya hai in Hindi का यह पोस्ट। यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आए, तो इसे अन्य लोगों के साथ शेयर करना ना भूलें। आज के लेख में हम आपको UPSC से संबंधित फुल information को साझा किया है। यदि आपको UPSC से संबंधित कोई भी सवाल पूछना हो, तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में अवश्य कमेंट करके पूछे। 

12 thoughts on “UPSC Kya Hai Full Information in Hindi”

Leave a Comment